Breaking News

breaking news Singrauli - कुएं में गिरने से मौत: खुटार का निवासी सीताराम शाह किसका है कुआं...?

सिंगरौली: परिवार से संपन्न सीताराम साहू दिन का घर खुटार में बताया गया है। अब उनके नाम से पहले लगेगा स्वर्गीय।

किसकी थी कुआं

अपने ही कुए में गिरकर गवा बैठे जान अब क्या हकीकत है आत्महत्या या हत्या इसकी रिपोर्ट तो जांच के बाद ही मिलेगी जांच का रिपोर्ट जानने के लिए हमारे चैनल को ऊपर दिए गए सब्सक्राइब बटन को दबाकर ईमेल आईडी इंटर करें और आते रहे ताजा खबरों की नोटिफिकेशन। 

Updated 24 News

Report: राजेन्द्र कुमार, Madhya Pradesh

कुएं के पास क्यों गया?

घरवालों और कुछ लोगों के द्वारा बताया जाता है की सीताराम साहू अपने कुए पर खेत की सिंचाई के लिए डीजल पंप को चालू करने के लिए गए थे और तत्कालीन उपस्थित सबूतों के अनुसार पता चलता है कि सीताराम साहू डीजल पंप चालू करने के लिए घास का सहारा लिए।
कुए के किनारे गुगा घास एक व्यक्ति का सहारा नहीं बन पाया और वहीं पर टूट गया टूटते ही व्यक्ति डीजल पंप का हैंडल साथ में लिए कुएं में गिर जाता है इसका परिणाम बहुत ही बुरा होता है शायद उसको पता नहीं होगा की एक घास किसी की जिंदगी ले सकता है जब इंसान खुद ही गलती करें।

कैसा था बैकग्राउंड

सीताराम साहू का का परिवार का जीवन अच्छा ही कर रहा था। सूत्रों के मुताबिक लोगों का मानना है कि सीताराम साहू शाह अपने दिमाग से थोड़े डगमगाए हुए थे। हमने आसपास के लोगों से भी बात किया तो पता चला की कुछ 5 वर्ष पहले से ही सीताराम शाह का दिमाग थोड़ा सही नहीं चल रहा था। सीताराम व्यक्ति जिसकी मौत हो चुकी है कुएं में गिरने की वजह से पुलिस से मार भी खा चुके हैं जिसका वजन उनका गुस्सा ही था।

दिमाग कैसे हुआ कमजोर?

स्वर्गीय सीता राम सा सॉन्ग के बारे में पता चला कि वह खुटार चौराहे पर पुस्तक की दुकान खोल कर खोले थे लेकिन कुछ दिक्कतों की वजह से पुलिस से मुठभेड़ हो गई जिसका बदला पुलिस ने हूबहू लिया तभी से उसका दिमाग कुछ प्रॉब्लम करने लगा।





No comments